RPSC 1st Grade Geography syllabus in hindi pdf download

RPSC 1st Grade Geography syllabus in hindi pdf download – RPSC द्वारा स्कूल व्याख्याता भर्ती परीक्षा का आयोजन किया जाता है | विभाग ने व्याख्याता पद के लिए सभी विषयों के पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न को अपनी विभागीय वेबसाइट पर इंग्लिश में अपलोड कर रखा है| इंग्लिश भाषा में सलेबस होने के कारण अभ्यर्थियों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है | परिणामत: अभ्यर्थी इन्टरनेट पर RPSC 1st Grade Geography Syllbus in Hindi सर्च करते है | इसलिए हमने अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए इस पोस्ट में Geography Syllabus उपलब्ध करवाया गया है | और इसके साथ ही आप सलेबस की PDF Downdload भी कर सकते हो |

परीक्षा की योजना ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

Table of Contents

  • पेपर में सभी प्रश्न बहुविकल्पीय प्रकार के प्रश्न होंगे |
  • उत्तर के मूल्यांकन में नकारात्मक अंकन लागू होगा।
  • नकारात्मक अंकन 1/3 लागू रहेगा |
  • पेपर की अवधि 3 घंटा होगी |
क्रम संख्या विषय प्रश्नों की संख्या कुल अंक
1.भूगोल ( उच्च माध्यमिक स्तर तक )55110
2.भुगोल ( स्नातक स्तर )55110
3.भूगोल ( स्नातकोत्तर स्तर )1020
4.शैक्षिक मनोविज्ञान, शिक्षा शास्त्र, शिक्षण सामग्री, शिक्षण में कम्पूटर और सुचना प्रौधिगिकी का उपयोग3060
कुल 150300
परीक्षा की योजना

भूगोल ( उच्च माध्यमिक स्तर तक ) ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

  • पृथ्वी क आंतरिक भाग, चट्टानें, भूकंप और ज्वालामुखी, प्लेट तेक्टोनिक्स, हवा के कार्य, बहता हुआ पानी, ग्लेशियर |
  • वायुमंडल की संरचना और संगठन, सौर उर्जा और ऊष्मा बजट, विश्व के प्रमुख जलवायु क्षेत्र |
  • महासागरों की राहत विशेषताएं, लवणता, ज्वार, महासागरीय धाराएं |
  • भारत –
    • स्थान, भौगोलिक विभाजन, जलवायु, वनस्पति, मिट्टी |
    • जनसंख्या : वितरण, घनत्व और वृद्धि |
    • आपदा प्रबंधन : बाढ़, सुखा और भूस्ख्ल्लन |
    • प्रमुख फसलें, खनिज, लोहा और इस्पात उद्योग, कपास पर वस्त्र उद्योग |
    • पर्यावरण प्रदुषण, सतत विकास |
    • मानव भूगोल : परिभाषा, कार्यक्षेत्र और सिद्धांत |
    • प्राथमिक, माध्यमिक, तृतीयक और चतुर्थक गतिवीधियाँ |
    • परिवहन, संचार और व्यापार |
    • विश्व जनसँख्या का वितरण, घनत्व और वृद्धि |
    • मानव विकास की अवधारणा |
    • तराजू, अनुमान, स्थनिक सुचना प्रोधिगिकी, माध्य, माध्यिका, विधा, मानक विचलन, सहसंबंध |

भुगोल ( स्नातक स्तर ) ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

भौतिक भूगोल –

  • आइसोस्टेसी ( Isostacy )
  • पृथ्वी की गति
  • तापमान का व्युत्क्रम
  • दवाब बेल्ट और पवन परिसंचरण |
  • विश्व की जलवायु का वर्गीकरण : कोपेन और थौर्नवेट |
  • महासागरीय निक्षेप |
  • प्रवाल भित्तियां और प्रवाल द्वीपों का निर्माण |

मानव भुगोल –

  • मानव भूगोल में आधुनिक विचारधारा की संभावनावाद
  • नियतिवाद
  • नव नियतिवाद
  • प्रवासन इसके कारण और प्रकार |
  • विश्व की महत्तवपूर्ण जातियों का वितरण |

आर्थिक भूगोल ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

  • प्राकृतिक संसाधन और उनका वितरण |
  • विश्व के कृषि क्षेत्र |
  • दुनिया के औद्यिगिक क्षेत्र |

विचार भूगोल ( Geography o Thought ) –

  • भूगोल की परिभाषा, कार्यक्षेत्र, प्रकृति और उद्देश्य |
  • यूनानी भुगोल्वेताओं, रोमन भूगोलवेत्ताओं का योगदान |
  • हम्बोल्ट, रिटर, रत्जेल, हार्त्शोरण, हन्तिगतन, ब्लाचे और कार्ल सौर की रचनाएँ |

राजस्थान भूगोल –

  • प्राकृतिक भूगोल
  • जलवायु
  • वनस्पति
  • मिट्टी
  • सिंचाई
  • प्रमुख फसलें
  • प्रमुख खनिज, प्रमुख उद्योग
  • जनसँख्या वितरण और घनत्व
  • मरुस्थलीयकरण
  • कृषि- जलवायु क्षेत्र |

भूगोल ( स्नातकोत्तर स्तर ) ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

विचार का भूगोल –

  • भूगोल में द्वैतवाद
  • व्यवहार भूगोल
  • भूगोल में हाल के रुझान
  • भारत में भूगोल का विकास

भु-आकृति विज्ञान ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

  • मौलिक अवधारणा
  • ढलान विकास
  • भु-आकृति मानचित्रण का अनुप्रयोग
  • पर्यावरण भु-आकृति विज्ञान |

आर्थिक भूगोल –

  • प्लांट लोकेशन के सिद्धांत : वेबर का न्युनत्तम लागत का सिद्धांत
  • भारत के आर्थिक क्षेत्र |

शहरी भूगोल –

  • प्राचीन मध्यकालीन और आधुनिक काल में नगरों की उत्पति और विकास
  • टाउन प्लानिंग के उमलैंड सिद्धांत |

कृषि भूगोल –

जनसँख्या भूगोल –

  • जनसँख्या के सिद्धांत : माल्थुसियन और इष्टतम
  • भारत सरकार की जनसँख्या नीति |

राजनीतिक भूगोल –

  • राजनीतिक भूगोल का विकास
  • मैकिंडर की अवधारानाएं
  • बी. एस. जोन्स द्वारा राजनीतिक भूगोल का एकीकृत क्षेत्र सिद्धांत
  • सीमांत और बफर जोन |

शैक्षिक मनोविज्ञान, शिक्षा शास्त्र, शिक्षण सामग्री, शिक्षण में कम्पूटर और सुचना प्रौधिगिकी का उपयोग ( RPSC 1st Grade Geography Syllabus in Hindi ) –

शिक्षण अधिगम में मनोविज्ञान का महत्तव –

  • अधिगमकर्त्ता
  • शिक्षक
  • सीखने-सिखाने की प्रक्रिया
  • स्कुल की प्रभावशीलता |

शिक्षार्थी का विकास –

  • किशोर शिक्षार्थी का संज्ञानात्मक, शारीरिक, सामाजिक, भावनात्मक और नैतिक विकास पैटर्न और विशेषताएँ|

शिक्षण – सीखना –

  • सीखने की अवधारणा
  • व्यवहार, संज्ञानतमक और रचनावादी सिद्धांत और वरिष्ठ माध्यमिक छात्रों के लिए इसके निहितार्थ
  • किशोरों की सीखने की विशेषताएं और शिक्षण के लिए इसके निहितार्थ |

किशोर शिक्षार्थी का प्रबंधन –

  • मानसिक स्वास्थ्य और समयोजन समस्याओं की अवधारणा
  • भावनात्मक बुद्धिमत्ता और किशोरों के मानसिक स्वास्थ्य पर इसका प्रभाव
  • किशोरों के मानसिक स्वास्थ्य के पोषण के लिए मार्गदर्शन तकनीकों का उपयोग |

किशोर शिक्षार्थी के लिए निर्देशात्मक रणनीतियां –

  • संचार कौशल और इसका उपयोग
  • शिक्षण के दौरान शिक्षण- अधिगम सामग्री तैयार करना और उसका उपयोग करना
  • विभिन्न शिक्षण दृष्टिकोण –
    • टीचिंग मॉडल्स – एडवांस ओर्गनाईजर, साईटिफिक इन्कवायरी, इनफार्मेशन प्रोसेसिंग, कोपरेटिव लर्निंग |
  • रचनावादी सिद्धांत आधारित शिक्षण

ICT शिक्षाशास्त्र एकीकरण –

  • ICT की अवधारणा
  • हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की अवधारणा
  • निर्देश के लिए सिस्टम दृष्टिकोण
  • कंप्यूटर असिस्टेड लर्निंग
  • कंप्यूटर एडेड निर्देश
  • ICT शिक्षाशास्त्र एकीकरण को सुगम बनाने वाले कारक |

Read Also:

RPSC 1st Grade Paper 1st Syllabus in Hindi

Leave a Comment

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: