राजस्थान हिंदी व्याख्याता के लिए तैयारी कर रहे है तो पढ़ ले हिंदी साहित्य से जुड़े ये प्रश्न

राजस्थान हिंदी व्याख्याता के लिए तैयारी कर रहे है तो पढ़ ले हिंदी साहित्य से जुड़े ये प्रश्न : – इसमें RPSC ( राजस्थान लोक सेवा आयोग ) द्वारा होने वाली RPSC 1st Grade के विषय Hindi Sahitya Ke Mahattavpurn Prshn दिए जा रहे है। ये सभी प्रश्न हिंदी साहित्य से जुड़े हुए है इनमे जो प्रश्न दिए गए है वो साहित्य के उपन्यास, महाकाव्य, कहानियों तथा कहानियों के उद्देश्य से जुड़े हुए है जो की संभवतया ही आपकी परीक्षा को उत्तीर्ण करने में मदद करेंगे।

हिंदी साहित्य से जुड़े महत्तवपूर्ण प्रश्न

  • ’मानव चरित्र पर प्रकाश डालना और रहस्यों को खोलना ही उपन्यास का मूल तत्त्व है’-
    1. प्रेमचन्द
    2. प्रसाद
    3. यशपाल
    4. जैनेन्द्र
  • प्रेमचन्द के किस उपन्यास को औपन्यासिक महाकाव्य की संज्ञा दी गई ?
    1. सेवासदन
    2. गोदान
    3. रंगभूमि
    4. प्रेमाश्रम
  • प्रथम सर्वश्रेष्ठ आंचलिक उपन्यास तथा उनके लेखक कौन थे ?
    1. चित्रलेखा – भगवतीचरण वर्मा
    2. मैला आँचल – फणीश्वरनाथ रेणु
    3. रतिनाथ की चाची – नागार्जुन
    4. जंगल के फूल – राजेन्द्र अवस्थी
  • अंग्रेजों ने किसकी और कौन-सी रचना प्रतिबन्धित की ?
    1. प्रेमचन्द – सोजे वतन
    2. रांगेय राघव – बन्दूक और बीन
    3. शिवप्रसाद सिंह – दिल्ली दूर है
    4. इलाचन्द जोशी – निर्वासित
  • हिन्दी की सर्वश्रेष्ठ कहानी तथा कहानीकार का नाम क्या है ?
    1. पंच परमेश्वर – प्रेमचन्द
    2. आकाशदीप – प्रसाद
    3. तीर्थयात्रा – सुदर्शन
    4. उसने कहा था – चन्द्रधर शर्मा गुलेरी
  • आधुनिक कहानी का मुख्य उद्देश्य क्या है ?
    1. जीवन का मर्मस्पर्शी चित्रण
    2. भाषा-शैली के नवीन प्रयोग
    3. मनोरंजन की प्रमुखता
    4. नैतिक मूल्यों का आग्रह
  • निबन्ध विधा का पितामह कहा जाता है ?
    1. भारतेन्दु
    2. महावीर प्रसाद द्विवेदी
    3. रामचन्द्र शुक्ल
    4. हजारीप्रसाद द्विवेदी
  • ’रिपोर्ताज’ किस भाषा का शब्द है-
    1. अंग्रेजी
    2. चीनी
    3. फ्रांसीसी
    4. हिन्दी
  • ’भक्ति’ का सर्वप्रथम उल्लेख मिलता है?
    1. श्वेताश्वेतर उपनिषद् में
    2. कथोपनिषद में
    3. भागवत पुराण में
    4. ऋग्वेद
  • कथादि में अनुरक्ति को भक्ति किसने माना है?
    1. व्यास ने
    2. नारद ने
    3. गर्ग ने
    4. मोनियर विलियम्स ने
  • भक्ति भावना का मूल स्रोत भारत के किस भाग में माना गया है?
    1. उत्तर भारत
    2. दक्षिण भारत
    3. पूर्वाेतर भारत
    4. पश्चिम भारत
  • मोनियर विलियम्स के अनुसार ’भक्ति’ शब्द की उत्पत्ति हुई है?
    1. भज् से
    2. भजु से
    3. भजु से
    4. भक्त से
  • निर्गुण भक्ति का आधार ग्रन्थ है?
    1. भागवत गीता
    2. उपनिषद्
    3. श्वेताश्वेतर उपनिषद
    4. पुराण
  • . ’’हिन्दू पूजै देहरा, मुसलमान मसीद।’’ कहा था –
    1. कबीर
    2. रैदास
    3. ज्ञानदेव
    4. नामदेव
  • ’प्रच्छन्न बौद्ध’ किस दार्शनिक को कहा जाता है
    1. शंकराचार्य को
    2. रामानंद को
    3. विष्णुस्वामी को
    4. माध्वाचार्य को
  • ’नाटय शास्त्र’ के रचयिता है?
    1. भरतमुनि
    2. मम्मट
    3. पण्डित जगन्नाथ
    4. दण्डी
  • भक्ति के मार्ग स्त्री-पुरूष, जाति सभी के लिए किसनें खोल दिये थे ?
    1.  रामानंद ने
    2. शंकराचार्य ने
    3. विष्णु स्वामी ने
    4.  निम्बार्काचार्य ने
  • ’देश म्लेच्छाक्रांत है’ कथन किसका है ?
    1. तुलसीदास
    2. वल्लाभाचार्य
    3. शंकराचार्य
    4. रामानुजाचार्य
  • नामदेव के गुरू कौन थे ?
    1. विसोवा खेचर
    2. ज्ञानदेव
    3. एकनाथ
    4. तुकाराम
  • नामदेव द्वारा लिखित निर्गुण पदों की भाषा है
    1. सधुक्कङी
    2. ब्रज
    3. प्राकृत
    4. मराठी
  • रामानंद ने किस दर्शन को माना है ?
    1. अद्वैतवाद
    2. विशिष्टाद्वैतवाद
    3. द्वैतवाद
    4. द्वैताद्वैतवाद
  • ’प्रसंग पारिजात’ के रचनाकार है ?
    1. राधोदास
    2. चेतनदास
    3. अनंतदास
    4. प्रियादास
  • जायसी के गुरू थे ?
    1. शेख मोहिदी
    2. शेख तकी
    3. मासूम
    4. शेख निजामुद्दीन
  • उत्तरी भारत में भक्ति आन्दोलन की त्रिमूर्ति थे
    1. कबीर, नानक, दादू
    2. कबीर, नानक, रैदास
    3. रामानंद, कबीर, रैदास
    4. कबीर, रामानंद, शंकराचार्य
  • प्राणनाथ कृत रचनाएँ है ?
    1. प्राणनाथ, रामग्रंथ, कलश
    2. किरतन, खुलास, खेलावत
    3. खेलावत, षडऋतु
    4. उपर्युक्त सभी
  • चरणदास कृत रचनाएँ है ?
    1. ब्रजचरित, ब्रह्माज्ञानसार, भक्तिसागर
    2. योगसंदेहसार, सर्वोदय, अमरलीक
    3. अष्टांगयोग, धर्मजहाज
    4. उपर्युक्त सभी
  • सूफी सम्प्रदाय में साधना की अवस्थाएँ है ?
    1. शरीयत
    2. तरीकत
    3. हकीकत, मारिफत
    4. उपर्युक्त सभी
  • मौलिक नाटकों का आरम्भ किस युग से माना जाता है ?
    1. शुक्ल युग
    2. द्विवेदी युग
    3. भारतेन्दु युग
    4. शुक्लोत्तर युग
  • हिन्दी नाटक का स्वर्णयुग किसे कहा जाता है ?
    1. भारतेन्दु युग
    2. द्विवेदी युग
    3. छायावाद या प्रसाद युग
    4. छायावादोत्तर या प्रसादोत्तर युग
  • भारतेन्दु ने किस रचना में भ्रष्ट शासन तन्त्र पर प्रहार किया ?
    1. भारत दुर्दशा
    2. अन्धेर नगरी
    3. पाखण्ड विडम्बन
    4.  भारत जननी

FAQ Hindi Sahitya Ke Mahattavpurn Prshn

1. हिन्दी गद्य की गौण विधाएँ है ?

ANS. जीवनी-आत्मकथा, यात्रावृत-गद्यगीत, संस्मरण-रिपोर्ताज

2. जयशंकर प्रसाद किस वर्ग के नाटककार थे?

ANS. ऐतिहासिक प्रकार के।

3. ‘आषाढ़ का एक दिन’ नाटक किसकी रचना है?

ANS. मोहन राकेश

हमारे ग्रुप को भी ज्वाइन करें ताकि आपको ऐसे ही पोस्ट की जानकारी समय- समय पर मिलती रहे –

इनको भी पढ़ें

Leave a Comment

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: