भाषा के बिम्ब | भाषा मनोविज्ञान

भाषा के बिम्ब | भाषा मनोविज्ञान : – इसमें हम Bhaasha Ke Bimb के के बारे में तथा इनके प्रकारों ( दृश्य, श्रव्य , विचार और भाव बिम्ब ) के बारे में भी विस्तारित जानकारी दी गई है। पिछली कुछ पोस्टों में आपने भाषा मनोविज्ञान, भाषा शिक्षण तथा NCF 2005 के बारे में जानकारी प्राप्त की थी इनके लिंक नीचे दिए गए है।

भाषा के बिम्ब

जब भी कोई वस्तु, व्यक्ति, शब्द, वर्ण आदि हमारी आंखों के सामने आते हैं तो उनके चित्र हमारे मस्तिष्क में बन जाते हैं। और स्थाई हो जाते हैं, जिससे ही हमारी भाषा आगे बढ़ती है, इसलिए इन्हें भाषा बिंब कहते हैं।

भाषा के बिम्ब मुख्य रूप से चार प्रकार के होते हैं।

दृश्य बिंब Bhaasha Ke Bimb

जब भी कोई वस्तु व्यक्ति शब्द हमारी आंखों के सामने होते हैं तो उसी समय उनका चित्र हमारे मस्तिष्क में बन जाता है उसे दृश्य बिंब कहते हैं। जैसे कि – मेरे सामने से हाथी जा रहा है

श्रव्य बिम्ब

जब पहले कोई व्यक्ति वस्तु आदि हमारे द्वारा देखे हुए होते हैं, फिर बाद में कभी उनका नाम या आवाज सुनने मात्र से उनका चित्र हमारे मस्तिष्क में बन जाता है श्रव्य बिंब कहलाते हैं। जैसे – मां दरवाजा खोलो शायद बाहर मामा है।

विचार बिंब

जब कोई दृश्य या श्रव्य बिंब इस प्रकार से हमारे मस्तिष्क में बनने लगता है कि उसकी उपयोगिता महसूस होने लगती है विचार बिंब कहलाता है। जैसे – घोड़ा सवारी के काम आता है।

भाव बिंब

जब हम किसी विचार बिंदु को आत्मा के संपर्क से बनते हुए पाते हैं तो उसके साथ हमारी भावनाएं जुड़ जाती है इसलिए उसे भाव बिंब कहते हैं। जैसे – गाय हमारी माता है।

भाषा के बिम्ब से जुड़े कुछ महत्तवपूर्ण प्रश्न Bhaasha Ke Bimb

  1. हम लोग भाषा व्यवहार को निरंतर बनाए रख पाते हैं इसके लिए सबसे महत्वपूर्ण है –
    1. भाषा का व्यवहारिक होना
    2. गतिशील होना
    3. भाषा बिंब का बनना
    4. भाषा का उपयोग होना
  2. “मोहन मेरे सामने खड़ा है।” कथन में कौन सा बिंदु निर्मित हो रहा है –
    1. दृश्य बिंब
    2. श्रव्य बिम्ब
    3. विचार बिंब
    4. भाव बिंब
  3. कौन सा कथन अन्य से भाषा विकास के अनुसार भिन्न है
    1. गाय दूध देती है
    2. घोड़ा घास खाता है
    3. पुस्तक को बालक पड़ता है
    4. गांधीजी राष्ट्रपिता है

भाषा मनोविज्ञान

भाषा शिक्षण

NCF 2005

परीक्षाओं से सम्बंधित प्रत्येक जानकरी से अपडेट रहने के लिए ज्वाइन करें हमारे ग्रुप को –

इनको भी पढ़ें :- Bhaasha Ke Bimb

हमारे इस साईट पर दिए गए पोस्ट आपको पसंद आये तो कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमें और अच्छा कंटेंट देने के लिए प्रेरित करें और अगर कुछ सुधार चाहिए तो भी कमेंट करे ताकि आपके कीमती सुझाव से हम इसमें कुछ महत्तवपूर्ण बदलाव कर सके। धन्यवाद !

Leave a Comment

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: